ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेली गई 5 मैचो की सीरीज में भारत ने 4-1 से शानदार जीत दर्ज की. मेजबान भारतीय ने खेल के तीनों विभागों में ऑस्ट्रेलिया को पछाड़ते हुए 5 में से 4 मैचो में जीत दर्ज की.

सीरीज के समापन के बाद, भारत के प्रमुख कोच रवि शास्त्री ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया और पूरे सीरीज में टीम के प्रयासों की प्रशंसा की. शास्त्री ने अंतिम वनडे में शानदार शतक लगाने वाले रोहित शर्मा की विशेष रूप से प्रसंशा की.

Image result for ravi shastri press conference

शास्त्री ने कहा, “यदि आप एक अच्छी टीम के रूप में मूल्यांकन करना चाहते हैं, तो आपको निरंतर होना चाहिए. हमने कई मौकों पर इसे दोहराया है और इसी तरह हम इस सीरीज में रूठलेस थे. हिटमैन (रोहित) ने हमारे लिए एक शानदार काम किया, वह शानदार था.”

कोच रवि शास्त्री ने भारतीय की गेंदबाज़ी की भी जमके प्रसंशा की, खासतौर पर डेथ ओवरों में जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार की गेंदबाज़ी की.

शास्त्री ने कहा, “डेथ ओवरों की गेंदबाजी जबरदस्त रही, यह खिलाड़ियों का कौशल दर्शाती है, जब आप इस तरह के गेंदबाज़ हैं, तो वे आपको अंतिम ओवरों में वापसी कराते हैं. भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह के पास जबरदस्त, कौशल है. यही कारण है कि हम दोनों को अंतिम वनडे के लिए टीम में वापस लाए थे. नागपुर का मैदान बड़ा है, हालाँकि शुरुआती बल्लेबाज़ी के दौरान आप नई गेंद के साथ रनों के लिए जा सकते हैं.”

Image result for hardik pandya batting

हार्दिक पंड्या के बारे में पूछे जाने पर, शास्त्री ने बड़ौदा के युवा आल-राउंडर हार्दिक पंड्या के तारीफों को पुल बांधे. भारतीय टीम के प्रमुख कोच रवि शास्त्री ने कहा, कि उन्होंने स्पिनरों के विरुद्ध इस तरह की बल्लेबाज़ी करने वाला बल्लेबाज़ नहीं देखा.

शास्त्री ने पंड्या को नया नाम दिया, ‘ख़तरनाक खिलाड़ी (Dangerous guy)’

शास्त्री ने कहा, “हार्दिक पंड्या खतरनाक खिलाड़ी है. वह गेंद पर प्रहार के फन में माहिर है, खासतौर स्पिनरों को शानदार खेलता है. मैंने पंड्या की तरह स्पिनरों को खेलने वाले खिलाड़ी नहीं देखे. युवराज सिंह अपने करियर के शिखर के दिनों में ऐसा ही था. इस तरह के खिलाड़ी दुनिया के किसी भी मैदान पर चौके-छक्के लगा सकते हैं.”