भारतीय लेग-स्पिनर युज्वेन्द्र चहल सिमित ओवर क्रिकेट में भारत के अहम सदस्य बनते जा रहे हैं. टीम मैनेजमेंट चहल को सिमित ओवर क्रिकेट में जडेजा और अश्विन से अधिक महत्व दे रहा हैं. हालाँकि चहल ने अपने प्रदर्शन से भी किसी को निराश नहीं किया हैं.

ऑस्ट्रेलिया-भारत के बीच खेली जा रही 5 मैचो की सीरीज में भी चहल ने अब तक अच्छा प्रदर्शन किया हैं. चहल सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के तूफ़ानी बल्लेबाज़ ग्लेंन मैक्सवेल के लिए बुरे सपने की तरह रहे हैं. सीरीज के शुरूआती में मैचो में चहल ने मैक्सवेल का 3 बार शिकार किया. चौथे वनडे से ठीक पहले चहल ने मैक्सवेल की कमज़ोरियो के बारे में बात करते हुए कहा,

Image result for chahal odi press conferenceमैक्सवेल के लिए मेरा प्लान स्टंप पर गेंदबाजी करना नहीं होता. ऐसा करने से मुझे नुकसान होगा. मैं मैक्सवेल लिए ऑफ स्टंप से बाहर गेंद करता हूँ और मैं अपनी गेंदबाजी गति में मिश्रण करता हूँ. मैं जानता हूँ, कि अगर मैं मैक्सवेल को 2-3 गेंदें डॉट डाल दूंगा, तो वह क्रीज से बाहर आकर बड़ा शॉट खेलना चाहेगा. हालाँकि बल्लेबाजों को लालच देने के लिए आपकी लाइन और लेंथ अच्छी होनी चाहिए.”

चहल ने यह भी कहा, कि ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज़ डेविड वार्नर लय में नहीं है, हालाँकि वह टीम के सबसे खतरनाक बल्लेबाज़ हैं.

Image result for warner in odiचहल ने कहा, “सलामी बल्लेबाज़ डेविड वार्नर ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख खिलाड़ी है. जब वार्नर क्रीज पर समय बिता लेता है तो वह बड़ी पारी खेलता है. इंदौर वनडे में भले ही फिंच ने शतक लगाया, लेकिन वार्नर सबसे खतरनाक खिलाड़ी है.”

“वार्नर के पास आईपीएल में खेलने का काफ़ी अनुभव है और वार्नर की मानसिकता आक्रमण करने की है. यदि वह 40 से 50 गेंदें खेल लेता है, तो आसानी से 70 से 80 रन बना सकता है. हमारी योजना वार्नर को जल्दी आउट करने की है, जिससे हम बीच के ओवरों में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ी क्रम पर दबाव बना सकें.”

ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध भारत का पलड़ा मजबूत होने के प्रशन पर चहल ने बताया, कि सीरीज में स्पिनरों ने अंतर पैदा किया हैं. मैंने और चहल ने सीरीज में अब तक 13 विकेट लिए हैं.

चहल ने कहा, ऑस्ट्रेलियाई स्पिनरों की तुलना में हमारे(भारतीय) स्पिनरों ने अच्छा प्रदर्शन किया और हमने सीरीज 13 विकेट लिये है. हमने ऑस्ट्रेलियाई स्पिनरों की  तुलना में परिस्थितियों का बेहतर उपयोग किया. यह हमारे लिये अच्छी महत्वपूर्ण और फायदेमंद की बात रही. ऑस्ट्रेलियाई टीम एडम जैम्पा एकमात्र रिस्ट स्पिनर है और उन्हें नियमित तौर पर टीम में जगह नहीं मिली हैं.”