भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही 5 मैचो की सीरीज के शुरूआती 2 मैचो में मेजबान भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए, ऑस्ट्रेलिया को हराकर 2-0 की बढ़त बना ली हैं. इस लेख में हम दुसरे वनडे के बाद भारतीय खिलाडियों के प्रदर्शन के आधार पर उनकी रेटिंग जानेगे:-

रोहित शर्मा- (5/10)

रोहित शर्मा ने अब तक सीरीज में अच्छी शुरुआत नहीं की हैं. पहले वनडे में रोहित शर्मा 28 रन बनाकर आउट हुए, जबकि दुसरे वनडे में तो रोहित सिर्फ 7 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. रोहित शर्मा एक बेहद ही होनहार खिलाड़ी है, और उम्मीद है, कि जल्द ही वह एक बड़ी पारी खेलकर भारतीय टीम की जीत में योगदान देगे.

अजिंक्य रहाणे- (7/10)

पहले वनडे में ख़राब प्रदर्शन के बाद अजिंक्य रहाणे ने दुसरे वनडे में शानदार वापसी करते हुए अर्धशतक लगाया. रहाणे ने अपने बल्लेबाज़ी से दिखाया है, कि वह एक क्लास प्लेयर है और उन्हे टीम में जगह जरुर देनी चाहिए. रहाणे तीसरे वनडे में भी अपने फॉर्म को बरकरार रखना चाहेगे.

विराट कोहली- (8/10)

पहले वनडे में शून्य पर आउट होने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कोलकाता वनडे में शानदार 92 रनों की पारी खेलकर भारतीय टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई. विराट कोहली कोलकाता वनडे को फॉर्म को आगे भी जारी रखना चाहेगे. ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध कोहली का वनडे रिकॉर्ड भी बेहद शानदार रहा हैं.

मनीष पाण्डेय- (3/10)

मनीष पाण्डेय को ऑस्ट्रेलिया सीरीज में नंबर 4 के स्थाई बल्लेबाज़ के रूप में शामिल किया, हालाँकि अब तक पाण्डेय ने अपने प्रदर्शन से निराश किया हैं. ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध शुरुआती 2 मैचो में पाण्डेय ने सिर्फ 3 रन बनायें हैं. 2 लगातार ख़राब प्रदर्शन के बाद पाण्डेय काफ़ी दवाब में होगे. तीसरे वनडे में मनीष के स्थान पर के.एल राहुल खेलते हुए भी दिखाई दे सकते हैं.

एमएस धोनी- (8/10)

चेन्नई वनडे में उपरीक्रम के बल्लेबाजों के नाकाम होने के बाद धोनी अंत तक खड़े रहे और शानदार 79 रनों की पारी खेलकर भारत को जीत दिलाई. कोलकाता वनडे में धोनी बल्लेबाज़ी के दौरान विफल रहे, हालाँकि बतौर विकेटकीपर धोनी सीरीज में अब तक बेहद शानदार रहे हैं.

केदार जाधव- (6.5/10)

पहले वनडे में केदार जाधव ने 40 रनों अहम पारी खेली, हालाँकि दुसरे वनडे में अच्छी शरुआत मिलने के बावजूद वह बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे. टीम में अपनी जगह बनाये रखने के लिए केदार को ओर भी सुधार और मेहनत की ज़रूरत हैं. जाधव की स्पिन गेंदबाजी भी टीम के लिए काफ़ी अहम रहती हैं.

हार्दिक पंड्या- (9/10)

चेन्नई वनडे में 83 रनों की शानदार पारी खेलने के बाद हार्दिक पंड्या ने गेंदबाजी में भी 2 विकेट हासिल किये थे. दुसरे वनडे में पंड्या ने एक बाद फिर अपनी उपयोगी गेंदबाजी से टीम की जीत में अहम योगदान किया. पंड्या ने दुसरे वनडे में स्मिथ महत्वपूर्ण विकेट हासिल की थी.

भुवनेश्वर कुमार- (8/10)

भुवनेश्वर कुमार बेहद ही शानदार फॉर्म में हैं. पहले वनडे में भुवनेश्वर कुमार ने बल्ले और गेंद दोनों से अहम योगदान दिया था. जबकि दुसरे वनडे में भुवि ने अपने करियर के बेहद शानदार स्पेल डाला, और भारत की शुरुआती सफ़लता दिलाई. दुसरे वनडे में भुवि ने 3 अहम विकेट लिये.

युज्वेन्द्र चहल- (7/10)

चहल ने शुरूआती दोनों वनडे में बेहद शानदार प्रदर्शन किया है. चहल ने दोनों वनडे में अहम मौको पर टीम को बड़ी विकेट दिलाई हैं. वनडे सीरीज में अब तक चहल ने ऑस्ट्रेलिया के बिग-हीटर ग्लेंन मैक्सवेल को 2 बार आउट किया हैं.

कुलदीप यादव- (8/10)

पहले वनडे में मैक्सवेल ने कुलदीप यादव के ओवर में लगातार 3 छक्के लगाए थे. जबकि अगले वनडे में कुलदीप यादव ने लगातार 3 गेंदों पर 3 विकेट लेकर शानदार वापसी की. कुलदीप वनडे क्रिकेट में हैट्रिक लेने भारत के एकलौते स्पिनर हैं.

जसप्रीत बुमराह- (7/10)

पहले वनडे में जसप्रीत बुमराह के शानदार स्पेल की मदद से भारत को जीत मिली. बुमराह का अनऑर्थोडॉक्स गेंदबाजी एक्शन अभी ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों के लिए मिस्ट्री बना हुआ हैं. दुसरे वनडे में भी जसप्रीत बुमराह ने अच्छी गेंदबाजी की, हालाँकि उनके विकेट नहीं मिल पायें. बुमराह वनडे में दुनिया के सबसे सफ़ल गेंदबाजो में से एक हैं.