भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए कल दिलचस्प एकदिवसीय मुकाबले ने भारत ने फिर से ऑस्ट्रेलिया को परास्त कर दिया है । इस मैच मैं भारत ने चारो ओर से ऑस्ट्रेलिया पर आक्रमण किया जिसकी बदौलत भारत ने श्रंखला मे बढ़त हासिल कर ली है ।

जैसा कि हम सब जानते है कि भारत की चयन समिति , भारत के कप्तान , कोच और अन्य समितिया विश्व कप 2019 को नज़र मे रखते हुए युवा खिलाड़ियों को मौका दे रही है । युवा खिलाड़ियों को मौका देने का मतलब है कि उनके खेल मे ओर सुधार लाना जिसकी भारत को बहुत जरुरत है ।

कल के मैच मे भारत ने बल्लेबाजी के साथ साथ गेंदबाजी से भी सबको प्रभावित किया , जिस कारण भारतीय टीम की विश्व मे प्रशंसा हो रही है । कल के मैच मे भारत ने पहले बल्लेबाजी की , हालाँकि भारत की शुरुआत इतनी अच्छी नही रही क्योँकि भारत ने रोहित शर्मा को जल्द ही खो दिया था ।

रोहित शर्मा के आउट होने के बाद विराट कोहली ने क्रिज़ पर कदम रखा और आते ही भारतीय कप्तान कोहली ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से भारतीय खेमे को आशवासन दिया कि वह है । इसके बाद कोहली और रहाणे ने अच्छी बल्लेबाजी दिखाई जिसे देख सभी प्रसन्न हुए ।

हालाँकि कोहली अपने 31 वे शतक से चूक गए , यह 92 रन पर काउल्टर नील का शिकार बने ,जिसके बाद भारत की पारी लड़खड़ा गई और भारत बड़ी मुश्किल से 252 के स्कोर तक पहुँच सका । जब तक विराट कोहली क्रीज़ पर थे तब लग रहा था कि भारत का स्कोर 300 से अधिक जाएगा पर होनी को टाल सकता है ।

भारत की गेंदबाजी की शुरुआत अच्छी हुई , भारत की ओर से भुवनेश्वर कुमार ने आते ही ऑस्ट्रेलिया को 2 झटके दे दिए थे । इन दो झटकों के बाद ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्मिथ और इनके साथी हेड ने पारी को सम्भाला जिससे ऑस्ट्रेलिया के स्कोर मे ओर वृद्धि हुई । इसके बाद थोड़े थोड़े अंतराल मे विकेट गिरती रही और ऑस्ट्रेलिया के हाथो से मैच फिसलता दिखाई दे रहा था ।

कुलदीप यादव कल के मैच के हिरो साबित हुए जब इन्होने अपने तीन इकट्ठे विकेट लेकर भारत के खेमे मे खुशी भर दी । इन्होने यह कारनामा 33 वे ओवर मे किया जब यह हैटट्रिक लेने मे सफल रहे । हालांकि मैक्सवेल ने पहले इनकी लय बिगाड़ दी थी , मैक्क्सवेल ने पिछले मैच की तरह इस मैच मे भी इनको लंबे लंबे छक्के मारे ।

कुलदीप यादव ने बताया कि इन्हे डेविड वार्नर के खिलाफ गेंदबाजी करने मे मजा आता है , हालाँकि कुलदीप यादव ने अपने छोटे से करियर मे वार्नर को दो बार आउट किया है । 22 वर्षीय कुलदीप यादव ने बोला कि जब यह गेंदबाजी करने आते है डेविड वार्नर इनके सामने प्रेशर मे खेलते है और वार्नर को यह भी लगता है कि कुलदीप उन्हे कभी भी आउट कर सकते है ।

डेविड वार्नर ने कुलदीप यादव के इस कमेंट पर जवाब देते हुए उन्हे पहले तो कोलकत्ता एकदिवसीय मैच मे हैटट्रिक लेने पर बधाई दी । आगे कहा कि मे इनके आत्मविश्वास की सराहना करता हू , और मुझमें भी अपनी युवा उम्र मे इतना ही आत्मविश्वास था जितना आपमे है । कुलदीप यादव आत्मविश्वास से भरे है पर जो यह कमेंट कर रहे है उससे यह अपने ऊपर ही प्रेशर को आने की दावत दे रहे है ।