ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज़ पैट्रिक कमिंस आगामी एशेज के तैयारियों के मद्देनज़र भारत के विरुद्ध खेली जाने वाली टी-ट्वेंटी सीरीज का हिस्सा नहीं होगे. ऑस्ट्रेलिया चयनकर्ताओ ने नागपुर में खेले जाने 5वे वनडे के बाद कमिंस को आराम दिया है, और वह वनडे सीरीज के बाद एशेज की तैयारियों के लिए ऑस्ट्रेलिया लौट जाएगे. कमिंस शेफ़ील्ड शील्ड सीजन में भी हिस्सा लेगे, जोकि अक्टूबर के अंतिम सप्ताह से शुरू होगा.

Image result for cummins in test
कमिंस ने पिछले कुछ समय से वनडे क्रिकेट में शानदार खेल दिखाया हैं. पेट्रिक कमिंस वर्तमान में भारत के लिए द्विपक्षीय सीरीज खेल रहा हैं. हालाँकि शुरूआती दोनों मैचो में उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा हैं. भारत के विरुद्ध खेली जा रही सीरीज में ऑस्ट्रेलिया टीम की बल्लेबाज़ हार का कारण बनी हैं. ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजो ने सीरीज में अच्छी गेंदबाज़ी की हैं. कमिंस ने सीरीज के शुरूआती 2 मैचो में 3.90 की इकोनोमिक दर से 2 विकेट हासिल किये हैं.

कमिंस के रिप्लेसमेंट के नाम का ऐलान होना अभी बाकि

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अभी टी-ट्वेंटी सीरीज के लिए कमिंस के रिप्लेसमेंट के रूप में किसी की नाम का ऐलान नहीं किया हैं. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अधिकारिक वेबसाइट के अनुसार कमिंस न्यू साउथ वेल्स ब्लू और घरेलु टूर्नामेंट जेएलटी वन-डे कप का फाइनल के लिए भी उपलब्ध रहेगे.

Image result for trevor hohns press conference
राष्ट्रीय चयनकर्ता ट्रेवर होन्स ने एक बयान में कहा, “पैट ने इस वर्ष काफी क्रिकेट खेली है, वह पिछले काफ़ी महीनों से लंबे समय के लिए चोट के कारण बाहर रहे थे.”

ट्रेवर होन्स का मानना ​​था कि पैट्र कमिंस अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट ने वापसी के बाद से अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और उन्होंने कहा, कि उन्हें महत्वपूर्ण एशेज से पहले कुछ आराम की जरूरत है.

ट्रेवर होन्स ने कहा, “कमिंस के शरीर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी को अच्छी तरह से संभाला है, लेकिन हमारा मानना है, कि उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण प्लान है, कि वह एशेज सीरीज के पहले मानसिक और शारीरिक रूप से घर फ़्रेश लौटें, जिससे वह शैफील्ड शील्ड क्रिकेट में अच्छे तरह से तैयारी कर पाएं.”

24 वर्षीय तेज गेंदबाज़ कमिंस इस समर में तेज से और उछाल वाले ऑस्ट्रेलियाई विकेट पर निश्चित रूप से वापसी करना पसंद करेंगे. इस वर्ष कमिंस ने उपमहाद्वीप में काफ़ी क्रिकेट खेला हैं. कमिंस ने बांग्लादेश की तेज गर्मी में भी अच्छी गेंदबाजी की थी.