पूर्व भारतीय कप्तान कप्तान एमएस धोनी क्रिकेट के सबसे बड़े नामो में से एक हैं. अपने करियर के दौरान धोनी में बतौर बल्लेबाज़, विकेटकीपर और कप्तान कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं. 36 वर्षीय धोनी अपने करियर के ऐसे पढाव पर है, जिस दौरान वह मैच दर मैच एक बड़ा कीर्तिमान हासिल कर रहे हैं. कोलकता में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध धोनी भारत की और से 300 वनडे मैच खेलने वाले खिलाड़ी बने.

Image result for dhoni shooting

एमएस धोनी भारतीय टीम के ऐसे खिलाड़ी है, जो हमेशा अपनी फ़िटनेस पर अधिक ध्यान देते है, यही कारण है, कि 15 वर्षो के कारण धोनी कभी भी चोट के कारण बाहर नहीं हुए हैं. समय का उपयोग कैसे किया जाता है, यह कोई धोनी से सीखे. कोलकाता वनडे से एक दिन पहले बुधवार को भारतीय टीम बारिश के कारण अभ्यास नहीं कर पाई. जिसके बाद टीम के लगभग सभी खिलाड़ी आराम या मस्ती करते हुए दिखाई दिए, लेकिन धोनी इस दौरान कोलकाता पुलिस के ट्रेनिंग स्कूल पहुच गए. स्कूल पहुँचकर धोनी ने पिस्टल से निशानेबाजी का अभ्यास किया.

कोलकाता पुलिस ने अपने अधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट से धोनी के निशानेबाजी अभ्यास का विडियो शेयर किया.

धोनी की विडियो शेयर करते हुए कोलकाता पुलिस ने लिखा, महान महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट से कुछ समय निकालकर बुधवार दोपहर को पुलिस ट्रेनिंग स्कूल की हमारी लेटेस्ट शूटिंग रेंज में अपने निशानेबाजी कौशल का अभ्यास किया. धोनी की सटीकता शानदार थी.”

कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, कि धोनी ने ट्रेनिंग स्कूल ने निशानेबाजी अभ्यास के आलावा पुलिस के जवानों से मिलकर उनका हौसला बढाया. धोनी के बात करके जवाव काफी ख़ुश दिखाई दे रहे थे.

कोलकाता ने पुलिस ट्रेनिंग स्कूल के शूटिंग रेंज में पूर्व कप्तान धोनी ने 10 और 25 रेंज के शॉट में निशानेबाजी का अभ्यास किया.

यह पहला मौका नहीं है, जब धोनी क्रिकेट के समय निकालकर भारतीय जवानों से मिलने पहुंचे हैं. इससे पहले कई बार धोनी आर्मी जवानों का हौसला बढाते हुए दिखाई दिए हैं.