विराट कोहली यक़ीनन वर्तमान के सबसे सफ़ल बल्लेबाज़ हैं. कोहली ने पिछले 5 वर्षो में क्रिकेट के कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए हैं.

श्रीलंका के विरुद्ध खेले गए आर.प्रेमदासा, कोलोंबो में सचिन तेंदुलकर ने रिकी पोंटिंग की बराबरी करते हुए करियर का 30वा शतक लगाया. रिकी पोंटिंग ने अपने करियर के दौरान 375 मैचो में 30 शतक लगाए, दूसरी ओर कोहली को 30 वनडे शतक लगाने के लिए सिर्फ 194 मैचो की जरुरत पड़ी.

मैच ख़त्म होने के बाद विराट कोहली से सचिन तेंदुलकर के वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक शतकों के रिकॉर्ड के बारे में पूछा गया. सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर में 49 शतक लगायें थे.

विराट कोहली ने अपने आदर्श खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड का सम्मान करते हुए कहा, कि उनका रिकॉर्ड कभी काफ़ी दूर है, और उन्हें वहाँ तक पहुचने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी. कोहली ने यह भी कहा, कि वह इस रिकॉर्ड के बारे में अभी नहीं सोच रहे हैं.

(Source: AP)

विराट कोहली ने कहा, महानतम सचिन तेंदुलकर अभी काफी आगे हैं. वहाँ तक पहुंचने के लिये मुझे बहुत मेहनत करनी होगी. मैं उसके बारे में सोच भी नहीं रहा हूँ. मैं सिर्फ टीम के बारे में सोच रहा हूँ. मैं अगर 90 पर नाबाद रहा और मेरी टीम जीत गई तो मेरे लिये काफी है.”

विराट कोहली पोंटिंग के रिकॉर्ड की बराबरी पर कहा, कि यह मेरे लिए के बड़े सम्मान की बात हैं, क्यूंकि वह अपने आप मैं एक महान बल्लेबाज़ रहे हैं.

कोहली ने कहा, “रिकी पोंटिंग जैसे महान खिलाड़ी के बराबर पहुंचना सम्मान की बात है. आप इसका लक्ष्य लेकर नहीं खेलते, लेकिन पोंटिंग महान खिलाड़ी और बल्लेबाज रहे हैं. उनकी उपलब्धियों का हम सभी सम्मान करते हैं.”

कोहली का कहना है, कि वह केवल अपनी क्षमता का सबसे अच्छा प्रदर्शन करना चाहते है और भारतीय क्रिकेट में योगदान देना चाहता है.

कोहली ने कहा, “मैं हमेशा टीम के लिये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की कोशिश करता रहता हूँ. करियर के साथ यह सब चीजें भी होती रहती है. आप कभी भी रिकॉर्ड के लिये नहीं खेलते लेकिन हाँ इन आकंड़ों को अनदेखा भी नहीं किया जा सकता.”