चौथे एकदिवसीय मैचों में श्रीलंका के खिलाफ 168 रनों की जीत के बाद, विराट कोहली ने अपने साथी रोहित शर्मा के साथ बातचीत का सत्र किया था और दोनों की कुछ चीजों के बारे में संक्षिप्त चर्चा हुई थी।उन चीजों में से एक था कि इन दोनो ने  219 रन की साझेदारी के दौरान दूसरे विकेट के लिए केवल 28 ओवरों ही खेले थे और कप्तान ने स्वीकार किया कि मैदान के  बीच में बहुत गर्मी थी और उन्होंने 16वे ओवर के बाद किसी भी गेंद पर दो रन नहीं भागने का फैसला किया ।   

कोहली ने कहा “ठीक है, जैसा कि हम बीच में वहां बात करते थे, मैदान बहुत गर्म और नम था। इसलिए, हमने सोचा के 16वे ओवर के बाद किसी भी गेंद पर दो रन नहीं करने का निर्णय लिया। दरअसल, बहुत सारी चीजों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए यह बहुत उपयोगी था। हम सिर्फ गेंद को देख रहे थे और यही वह चीज है जो हम उस ऊर्जा के साथ कर सकते हैं जो हमने हमारे पास छोड़ा था। मुझे लगता है कि सबसे अच्छी बात यह थी कि हम सिर्फ हर गेंद को खेल रहे थे और हम स्कोरबोर्ड भी नहीं देख रहे थे। हम हमेशा एक साथ बल्लेबाजी का आनंद उठाते है और हमेशा साथ बल्लेबाजी करने में खुशी होती है। हमारे पास पहले बड़ी साझेदारी थी और आज भी विशेष थी” ।

 

पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला के पहले तीन मैचों की जीत के बाद, भारत चौथे एकदिवसीय मैचों में सिर्फ दो चीजों को अपने दिमाग में लेकर चला था, जिसमें खिलाड़ियों को मौके दिए जाये, जो श्रृंखला में बेंच वार्मिंग कर रहे थे और दूसरा ध्यान मैच जीतने पर था । उन्होंने अन्य खिलाड़ियों को मौके दिए और साथ में, उन्होंने श्रृंखला में 4-0 की बढ़त हासिल करने के लिए एक बड़ी जीत हासिल कर ली।

पहले बल्लेबाजी करते हुए, भारत ने 50 ओवर में 375/5 रन बनाए, कोहली, रोहित और मनीष पांडे और एमएस धोनी से कुछ महत्वपूर्ण योगदान दिए। 376 का पीछा करना कभी आसान नहीं होता और श्रीलंका के बल्लेबाजों ने बल्ले से कोई भी आवेदन नहीं दिखाया क्योंकि उन्हें 43 वें ओवर में सिर्फ 207 रनों पर ही समेट दिया गया । जसप्रित बूमरा, कुलदीप यादव और हरदिक पांड्या ने दो-दो विकेट लिए।

इसके अलावा, इन्होंने ड्रेसिंग रूम के वायुमंडल के बारे में भी बताया और कैसे शीर्ष पर पहुंचने वाली टीम में सहायक कर्मचारी मददगार रहे हैं। कोहली ने सहायक प्रशिक्षक रघु श्रीनिवासन पर विशेषकर, भारतीय बल्लेबाजों की सफलता के पीछे अनगिनत नायक होने पर प्रशंसा की।

शक के बिना, बीती रात के प्रदर्शन के असली नायक विराट कोहली और रोहित शर्मा थे क्योंकि उनकी भागीदारी ने शुरुआती विकेट के नुकसान के बाद मैच का पूरा चेहरा बदल दिया।

दोनों बल्लेबाजों को एक साथ खेलते हुए देखना कविताओं की तरह है क्योंकि वे इस समय विश्व के सर्वश्रेष्ठ एकदिवसीय बल्लेबाजों में से हैं और दोनों एक दूसरे के साथ अच्छी तरह से पूरक हैं। हम चाहेगे कि भारतीय प्रशंसकों के पास भविष्य में रोहित और कोहली की ऐसी साझेदारी बनती रहे।

आप यहां पूरी वीडियो देख सकते हैं: bcci.tv.