इसमें कोई दोहराये नहीं है, कि इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) दुनिया की सबसे लोकप्रिय टी-ट्वेंटी क्रिकेट लीग हैं. वर्ष 2008 में शुरू की गई इस टी-ट्वेंटी ने अपने 10 सीजन पुरे कर लिए है, और प्रत्येक वर्ष इसकी लोकप्रियता में भी बढ़ोतरी हुई हैं.
Image result for ipl cheer girls
पिछले 10 वर्षों में, खेल के इतिहास में कुछ बेहतरीन खिलाड़ी भारत आए और टूर्नामेंट में हिस्सा लिया हैं. विदेशी और भारतीय खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन के कारण आज आईपीएल की एक बड़ी ब्रांड वैल्यू हैं. आईपीएल के आयोजन से भारत के युवा खिलाड़ियों को अन्तराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने का अच्छा अवसर भी मिला हैं, जबकि इसके साथ-साथ आईपीएल से क्रिकेट खिलाड़ियों को वित्तीय रूप से भी काफी फ़ायदा हुआ हैं.

हाल ही में, मुंबई में एक न्यूयॉर्क स्थित कॉर्पोरेट फायनेंस एडवाइजरी फर्म ‘डफ एंड फेल्प्स’ द्वारा प्रकाशित की गई रिपोर्ट में कहा गया है, कि आईपीएल की वर्थ अब 34,000 करोड़ (5.3 अरब डॉलर) रूपए हो गई हैं. अगर 2016 की बात करे तो आईपीएल की वर्थ 27000 करोड़(4.2 अरब डॉलर) थी, पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष आईपीएल की वर्थ में 26 फ़ीसदी बढ़ोतरी देखने को मिली हैं.

डफ और फेल्प्स के मैनेजिंग डायरेक्टर वरुण गुप्ता ने कहा, “यह अपेक्षाकृत विवाद से मुक्त टूर्नामेंट था, मैदानों पर कुछ शानदार प्रदर्शन के साथ मिलाकर इस खेल पर स्पॉटलाइट वापस लाया था. फील्ड पर, मुंबई इंडियंस पूरे सीज़न की सबसे अच्छी टीम थीं और 3 बार आईपीएल ख़िताब जीतकर रिकॉर्ड कायम किया. आख़िरी बार आईपीएल खेलने वाली राइजिंग पुणे सुपरजाइंट ने भी शानदार अंदाज़ में विदाई ली.”
Image result for ipl
आईपीएल के ब्रांड वैल्यू में वृद्धि के मुख्य कारण के रूप में रिपोर्ट डफ एंड फेल्प्स ने बड़े पैमाने पर टाइटल प्रायोजन डील और टेलीविजन राइट को श्रेय दिया है. दसवीं सीज़न में, चीनी स्मार्टफोन कंपनी विवो को अपने अगले पांच संस्करणों के लिए आईपीएल के टाइटल राइट के लिए 2,199 करोड़ रुपये का भुगतान करना पड़ा था. भारतीय टीवी पर 5 सोनी चैनलों पर मैच प्रसारण राइट से आईपीएल को 1.25 अरब डॉलर की कमाई हुई.

आईपीएल एक दौरान स्पॉट फिक्सिंग जैसे कुछ विवादों के बावजूद हर वर्ष आईपीएल दर्शको की संख्या में वृद्धि हुई हैं. आज, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) दुनिया में सबसे अमीर क्रिकेटिंग बोर्ड है, और इंडियन प्रीमियर लीग ने ऐसा होने में बड़ी भूमिका निभाई है.