एमएस धोनी यक़ीनन क्रिकेट इतिहास के सबसे कुशल विकेटकीपर माने जाते हैं. पिछले कुछ सालों में, हमने देखा कि धोनी स्टंप के पीछे अपनी कौशल पर बहुत कड़ी मेहनत करते हैं और विपक्षी बल्लेबाजों को अपनी ऑर्थोडॉक्स चाल के साथ आउट करते हैं.

एमएस धोनी सबसे तकनीकी रूप से सही विकेटकीपर नहीं हैं, बल्कि विकेट के पीछे वह अपने अंदाज़ में कीपिंग करते हैं. दुनिया भर में कई क्रिकेट पंडितों और प्रशंसकों का मानना ​​है कि धोनी ने विकेटकीपिंग की आर्टिटी का फिर से आविष्कार किया है. और हम विकेट के पीछे उनकी बिजली सी गति कैसे भूल सकते हैं.? जब धोनी को बल्लेबाज़ को स्टंप करने के मौका मिलता है, वह पलक झपकते ही बल्लेबाज़ को पवेलियन भेज देते हैं.
Image result for dhoni keeping
5 मैचो की एकदिवसीय सीरीज के दुसरे मैच के दौरान धोनी के एकदिवसीय क्रिकेट करियर का 99वाँ स्टंप किया. इस स्टंप के साथ धोनी एकदिवसीय क्रिकेट में संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा स्टंप करने वाले विकेटकीपर भी बन गए हैं. धोनी जल्द ही एकदिवसीय में 100 स्टंप करने पहले पहले विकेटकीपर भी बन सकते हैं.

श्रीलंका की पारी के 15वे ओवर में भारतीय स्पिनर युज़ुवेंद्र चहल ने एक तेज गेंद डाली, जिसपर सलामी बल्लेबाज़ दनुश्का गुनाथिकला ने आगे बढ़कर बड़ा शॉट मारने के प्रयास किया, लेकिन वह चुक गये और धोनी ने अपने करियर का 99वा स्टंप किया.

दनुश्का गुनाथिकला के गेंद मिस करने के बाद धोनी भी गेंद मिस कर गए थे, लेकिन गुनाथिकला के क्रीज में लौटने पहले उन्होंने स्टंप उखाड़ दिए.

इस स्टंप के साथ धोनी श्रीलंका के दिग्गज विकेटकीपर कुमार संगाकारा के एकदिवसीय क्रिकेट में 99 स्टंप बराबर आ गए हैं. एक और स्टंप के बाद धोनी एकदिवसीय क्रिकेट में 100 स्टंप करने वाले एकलौते खिलाड़ी होगी.

देखे धोनी का शानदार स्टंप