कुछ दिनों पहले एक छोटी लड़की का विडियो वायरल हुआ था. इस विडियो में लड़की की माँ उसे गणित पढ़ा रही हैं, लेकिन उसका पढ़ाने का तरीका बेहद कठोर और डरावना हैं. यहाँ तक की लड़की अपनी माँ से विन्रमता से पढ़ाने के लिए कहा, ‘प्यार से पढाओ’. इस विडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद बहुत से लोगों को इस 3 वर्षीय लड़की पर रहम आ गया.

विराट कोहली, धवन और युवराज ने की विडियो की निंदा

सोशल मीडिया पर विडियो के वायरल होने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कई बड़े दिग्गज क्रिकेटरों ने इस विडियो की निंदा की. भारतीय कप्तान विराट कोहली, सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन और दिग्गज आल-राउंडर युवराज सिंह ने यह विडियो सोशल मीडिया वेबसाइट इन्सटाग्राम पर शेयर की. हालांकि अब  वीडियो के पीछे वास्तविकता कुछ और ही सच बताती है.

विडियो में 3 वर्षीय लड़की का नाम हया है, और वह प्रसिद्ध सिंगर तोशी और शरीब सबरी की भांजी हैं. विडियो के वायरल होने के बाद हया के परिवार वालो ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा था है, कि एक मिनट की विडियो से आप हया की मम्मी को जज नहीं कर सकते हैं.

तोशी ने दिया विराट कोहली को जवाब
Image result for singer toshi with his sister

रिपोर्ट के अनुसार, तोशी ने कहा था, कि यह वीडियो अपने परिवार के व्हाट्सएप समूह के लिए बनाया गया था. क्रिकेटरों के बारे में उनकी राय देने के बारे में  तोशी ने कहा, “विराट कोहली और शिखर धवन हमारे बारे में नहीं जानते. हमारे बच्चे के बारे में हमे पता है, कि हमारा बच्चा कैसा हैं. उसका नेचर वैसा है… अगले ही पल वो खेलने चली जाती हैं. अगर आप उसे छोड़ दोगे तो वह कहेगी कि मैं मजाक कर रही थी. उसके नेचर की वजह से उसे छोड़ देगे तो वह पढ़ नहीं पाएगी.”

इसके अलावा, तोशी यह देखकर हैरान हैं, कि वीडियो इतनी जल्दी वायरल कैसे चला गया है. तोशी ने कहा कि यह वीडियो हया की माँ ने बनाया था, ताकि वह इसे अपने पति और भाई को दिखा सकें कि वह कितनी जिद्दी हो गई है.

तोशी ने सीखने के महत्व पर जोर दिया और कहा कि कभी-कभी बच्चे के नखरे की अनदेखी करने के लिए ठीक है, खासकर जब शिक्षा की बात आती है.

तोशी ने आगे कहा, “वो जो रोना होता है, वो उस मोमेंट के लिए था ताकि उसकी माँ उसे पढ़ाये न और खेलने दे. छोटा बच्चा है 2.5-3 साल का. हर घर में बच्चो की अलग ज़िद होती है, अलग-अलग तरीके के बच्चे होते हैं. ये बच्ची बहुत ज़्यादा जिद्दी है, लेकिन हमारी लाडली हैं.”

तोशी ने यह भी कहा, कि सिर्फ एक क्लिप देखकर किसी को जज करना ठीक नहीं हैं.

तोशी ने कहा, “एक माँ की ममता है, जजमेंट नहीं कर सकते हैं. जिसने उसको 9 महीने कोख में रखा हैं. अब अगर बच्चे जिद्द करेगे तो उनको पढ़ाना लिखाना छोड़ दे क्या? बच्चो को पढ़ाना आसान नहीं होता हैं.”

तोशी वास्तव में सही है, हर परिवार को पता है कि उनके बच्चे कैसे हैं, और इसलिए  किसी को इस तरह जज करने का अधिकार नहीं है.