पिछले 5 दशक में क्रिकेट के खेल को ज्यादा रोमांचक बनाने के लिए गेंद से लेकर बल्ले तक कई तरह के बदलाव किये गए है। खेल में अक्सर इस तरह के बल्लेबाज देखे जाते है, जो गेंदबाजो के छक्के छुड़ाने में माहिर होते है। इसका ज्यादातर श्रेय बल्लेबाज की ताकत को जाता है, लेकिन कहीं न कहीं उनके द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाला बैट भी इसमें अहम भुमिका अदा करता है।

ये है क्रिकेट में सबसे भारी बैट का इस्तेमाल करने वाले खिलाड़ी:

क्रिस गेल- स्पार्टन सीजी द बॉस

वेस्ट इंडीज़ का यह खिलाड़ी क्रिकेट में लंबे छक्के और चौके लगाने में माहिर है। गेल अपने ‘स्पार्टन सीजी बैट’ की मदद से ही गेंदबाजो की धुलाई करते है।

‘द बॉस’ के नाम से फैमस इस बैट का वजन 1.36 किलोग्राम है, जो इसे इतना दमदार बनाता है। गेल ने यह बैट 2012 में इस्तेमाल करना शुरु किया था, जिसने उन्हें टी-ट्वेंटी का बेस्ट बल्लेबाज बनने में मदद की है।gayle bat

लांस क्लुसेनर-एसएस ज़ुलु

साउथ अफ्रीका का यह बल्लेबाज भी बल्ले से बड़े शॉर्ट्स खेल टीम को जीत दिलाने का दम रखता है। टीम के खिलाड़ी उन्हें ज़ुलु के नाम से बुलाते है, जिसके बाद एसएस कम्पनी ने उनके इसी नाम पर अपने एक बैट का नाम भी रखा है।

इस बल्ले का वजन 1.53 किलोग्राम है, जिसकी मदद से क्लुसेनर ने सैकड़ो बाउंड्रीज़ लगाई है। उन्होंने अपना बैट चेंज करने के बाद इंग्लैंड के खिलाफ 174 रन की शानदार पारी खेली थी। इतना ही नहीं इसी बल्ले की मदद से वह 1999 में प्लेयर ऑफ वर्ल्डकप भी बने थे।

klusner bat

डेविड वॉर्नर-ग्रे निकॉल्स कबूम

अपनी दमदार बैटिंग से क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में डेविड वॉर्नर ने शानदार प्रदर्शन किया है। ग्रे निकॉल्स कबूम नाम के 1.24 किलोग्राम के बैट की मदद से ही उन्होंने यह कामयाबी हासिल की है।

इस बल्ले के बहेतरीन एज़ और थ्रो के कारण ही वॉर्नर इतने दमदार शॉर्ट्स खेल पाते है। डेविड वॉर्नर अपने क्रिकेट के शुरुआती करियर से ही यह बैट इस्तेमाल कर रहे हैं।

warner bat

वीरेंन्द्र सहवाग- एसजी वीएस 319

सहवाग की 319 रन की पारी की याद में इस बैट का नाम रखा गया है। सहवाग द्वारा बनाया तिहरा शतक किसी भारतीय बल्लेबाज द्वारा बनाया पहला तिहरा शतक था। एसजी वीएस 319 बैट का वजन 1.35 किलोग्राम है और इसी बल्ले की मदद से सहवाग ने दुनिया भर के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की है।

सहवाग विकेटों के बीच दौड़ने से ज्यादा बाउंड्रीज़ के जरिए रन बनाने में विश्वास रखते है। अपने इस इतने वजनी बैट से ही उन्होंने वन डे क्रिकेट में एक दोहरा शतक भी जड़ा है। साथ ही आईपीएल में भी सहवाग ने एक शानदार शतक लगाया है।

sehwag bat

सचिन तेंदुलकर- एमआरएफ,एडिडास

एमआरएफ और एडिडास के काफी समय तक ब्रांड एम्बैसडर बन रहने के कारण सचिन इन्हीं कम्पनी के बैट इस्तेमाल करते है। उनके बल्ले का वजन 1.47 किलोग्राम है, जिसकी बदौलत ही सचिन ने इतने वर्ल्ड रिकोर्ड्स अपने नाम किए है।

सचिन ने कोहनी में चोट लगने के बाद भी वजनी बैट का इस्तेमाल करना नहीं छोड़ा था। उनके भारी और बड़े आकार के बल्ले के खिलाफ कई गेंदबाजों ने उनकी शिकायत भी की है।

sachin bat

महेंद्र सिंह धोनी- स्पार्टन बैट

एमएस धोनी बेहद आक्रमक बल्लेबाजी के लिए जाने जाते है। उनके द्वारा खेले गए शॉर्ट्स गेंद को आसानी से बाउंड्री बाहर भेज देते है। इतने सालों से हम धोनी को लंबे छक्के और हेलिकॉप्टर शॉर्ट खेलते देख रहे है, जिसका कुछ श्रेय उनके बल्ले को भी जाता है। पिछले काफी समय से धोना स्पार्टन बैट का इस्तेमाल कर रहे हैं, जिसका वजन 1.27 किलोग्राम है। इस खास बल्ले को बनाने के लिए लेदर का भी इस्तेमाल किया जाता है।

ms dhoni bat